18 कैरेट सोने का भाव आज 11, June, 2024

वायापर जगत हो या घर में कोई शादी या कोई पर्व हो सभी को सोने का भाव प्रभावित करता है। अगर आप भी जानना चाहते हैं की आज सोने की कीमत में क्या बदलाओ हुआ है तो नीचे दिए गए टेबल से आसानी से सोने का भाव आज का 2023 का पता लगा सकते हैं।

18 कैरेट सोने का भाव today

18 कैरेट सोने का भाव आज का आपको कुछ इस तरह से 1 ग्राम से लेके 1 किलो तक का भाव नीचे टेबल में दिया गया है जो की आज की आज के रेट के अनुसार है। परंतु इस बात का ध्यान रहे की अगर आप 18 कैरेट गोल्ड का भाव सिर्फ जानना चाहते हैं तो इस में आपको अलग अलग राज्य के हिसाब से थोड़ा फरक होती है। अगर आपने राज्य या जिला की हिसाब से सोने का रेट देखना चाहते हैं तो नीचे आप को लिंक मिल जाएगा।

DateWeight18Kt Gold Rate
11-Jun-2024, AM1 GramRs. 5,470.00
11-Jun-2024, AM4 GramsRs. 21,880.00
11-Jun-2024, AM8 GramsRs. 43,760.00
11-Jun-2024, AM10 GramsRs. 54,700.00
11-Jun-2024, AM1 TolaRs. 63,801.01
11-Jun-2024, AM1 OunceRs. 170,136.02
11-Jun-2024, AM1 KGRs. 5,470,000.00

भारतीय संस्कृति और परंपराओं में सोने का हमेशा एक विशेष स्थान रहा है और देश में इस कीमती धातु की मांग लगातार बनी हुई है। भारतीय सोने की कीमत आज बाजार की मांग और आपूर्ति की गतिशीलता का एक प्रमुख संकेतक है और यह विभिन्न कारकों से प्रभावित होती है।

आज भारत की सोने की दर को प्रभावित करने वाले कारक

इस लेख में, हम उन विभिन्न कारकों का पता लगाएंगे जो आज भारतीय सोने की दर को प्रभावित करते हैं, जिनमें शामिल हैं:

ग्रामचांदी के दामडेली प्राइस चेंज
1 ग्राम₹ 88.5- ₹ 2
8 ग्राम₹ 708- ₹ 16
10 ग्राम₹ 885- ₹ 20
100 ग्राम₹ 8850- ₹ 200
1 Kg₹ 88500- ₹ 2,000

अंतर्राष्ट्रीय सोने की कीमतें

अंतर्राष्ट्रीय सोने की कीमतों का आज भारतीय सोने की दर पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है, क्योंकि भारत दुनिया में सोने के सबसे बड़े आयातकों में से एक है। आर्थिक, राजनीतिक, या अन्य घटनाओं के कारण अंतर्राष्ट्रीय सोने की कीमतों में कोई भी बदलाव आज भारतीय सोने की दर में उतार-चढ़ाव का कारण बन सकता है।

घरेलू आर्थिक स्थितियां

भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति एक अन्य महत्वपूर्ण कारक है जो आज भारतीय सोने की दर को प्रभावित करती है। स्थिर विकास और कम मुद्रास्फीति वाली एक मजबूत अर्थव्यवस्था सोने की मांग में वृद्धि करती है, जबकि उच्च मुद्रास्फीति और अनिश्चितता के साथ कमजोर अर्थव्यवस्था सोने की मांग में कमी ला सकती है।

मुद्रा विनिमय दर

अन्य मुद्राओं के सापेक्ष भारतीय रुपये का मूल्य भी आज भारतीय सोने की दर को प्रभावित करता है। एक मजबूत रुपया भारतीय बाजार में सोने की कीमत को कम करता है, जबकि एक कमजोर रुपया इसे बढ़ाता है।

भू राजनीतिक तनाव

भू-राजनीतिक तनाव, जैसे राष्ट्रों के बीच संघर्ष या किसी देश के भीतर राजनीतिक अस्थिरता, आज भारतीय सोने की दर में उतार-चढ़ाव का कारण बन सकती है। अनिश्चितता और अस्थिरता के समय निवेशक सुरक्षित निवेश के रूप में सोने की ओर आकर्षित होते हैं।

मौद्रिक नीति निर्णय

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की मौद्रिक नीति के फैसले आज भारत की सोने की दर को प्रभावित कर सकते हैं। ब्याज दरों, तरलता और अन्य मौद्रिक नीति साधनों में परिवर्तन भारतीय बाजार में सोने की मांग और आपूर्ति की गतिशीलता को प्रभावित कर सकते हैं।

मांग और आपूर्ति की गतिशीलता

भारतीय बाजार में सोने की मांग और आपूर्ति आज भारत की सोने की दर का एक प्रमुख निर्धारक है। भारत में सोने की मांग सांस्कृतिक और धार्मिक परंपराओं, मौसमी विविधताओं और निवेश की मांग सहित कई कारकों से प्रेरित है। भारत में सोने की आपूर्ति मुख्य रूप से आयात पर निर्भर है, क्योंकि भारत के पास महत्वपूर्ण घरेलू सोने का भंडार नहीं है।

उत्सव और शादी का मौसम

भारत में उत्सव और शादी के मौसम में सोने की मांग में वृद्धि देखने को मिलती है, जिससे आज भारत में सोने की कीमत में अस्थायी वृद्धि हो सकती है। ये अवधि आमतौर पर सितंबर से दिसंबर और जनवरी से मई के महीनों के दौरान आती हैं।

गोल्ड ईटीएफ और निवेश मांग

गोल्ड एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) और निवेश की मांग भी आज भारत की सोने की दर को प्रभावित करने में एक भूमिका निभाती है। इन निवेश विकल्पों की लोकप्रियता भारतीय बाजार में सोने की मांग और आपूर्ति की गतिशीलता को प्रभावित कर सकती है, जो बदले में आज भारत की सोने की दर को प्रभावित करती है।

सरकार की नीतियां और विनियम

सोने के आयात, निर्यात और कराधान से संबंधित सरकारी नीतियां और नियम भी आज भारत की सोने की दर को प्रभावित कर सकते हैं। इन नीतियों में परिवर्तन भारतीय बाजार में सोने की मांग और आपूर्ति की गतिशीलता को प्रभावित कर सकता है, और आज भारत में सोने की दर में उतार-चढ़ाव का कारण बन सकता है।

बाजार की अटकलें और भावना

अंत में, बाजार की अटकलें और भावना भी आज भारत की सोने की दर को प्रभावित कर सकती हैं। भारतीय बाजार में निवेशकों और व्यापारियों के कार्यों और प्रतिक्रियाओं से आज भारत में सोने की दर में अल्पकालिक उतार-चढ़ाव हो सकता है।

निष्कर्ष

अंत में, आज भारत की सोने की दर अंतरराष्ट्रीय सोने की कीमतों, घरेलू आर्थिक स्थितियों, मुद्रा विनिमय दरों, भू-राजनीतिक तनावों, मौद्रिक नीति निर्णयों, मांग और आपूर्ति की गतिशीलता, त्योहारी और शादी के मौसम, गोल्ड ईटीएफ सहित विभिन्न कारकों के एक जटिल परस्पर क्रिया से प्रभावित होती है। और निवेश की मांग, सरकार की नीतियां और विनियम, और बाजार की अटकलें और भावना। इन कारकों को समझने से निवेशकों और व्यापारियों को भारतीय बाजार में अपने सोने के निवेश के बारे में सूचित निर्णय लेने में मदद मिल सकती है।

Bhagyalakshmi Yojana : बच्ची के जन्म से लेके शादी तक लाभ ही लाभ इन लोगों को मिलेगा पीएम विश्वकर्मा योजना का लाभ सरकारी एक्शन : इन किसानों से सरकार वसूल करेगी 81.59 करोड़ पीएम किसान सम्मान योजना लाभ कैसे और किस को मिलेगा?